नई दिल्ली । मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के महासचिव सीताराम येचुरी ने भाजपा पर संविधान द्वारा देश के नागरिकों को प्रदत्त मौलिक अधिकारों को संकट में डालने का आरोप लगाते हुये देश विरोधी ताकतों की इस मुहिम को नाकाम बनाने का आह्वान किया। येचुरी ने गुरुवार को संविधान निर्माता डा. भीमराव आंबेडकर की पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुये कहा भारत में सभी नागरिकों को एक समान अधिकार प्राप्त हैं। देश के प्रत्येक नागरिक को मिले इस मौलिक अधिकार को निष्प्रभावी बनाने वाली ताकतों के मंसूबे हम कामयाब नहीं होने देंगे।
उल्लेखनीय है कि माकपा और भाकपा सहित सभी वामदलों ने गुरुवार को डा. आंबेडकर की पुण्यतिथि और अयोध्या में बाबरी मस्जिद विध्वंस की 26 वीं बरसी को देश भर में ‘संविधान और धर्मनिरपेक्षता संरक्षण दिवस’ के रूप में मनाने की पहल की है। इस मौके पर दिल्ली में वामदलों और विभिन्न सामाजिक संगठनों ने मंडी हाउस से संसद मार्ग तक शांति मार्च का आयोजन किया। संसद मार्ग पर आयोजित सभा में डॉ. आंबेडकर को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुये येचुरी ने कहा, आज का दिन बहुत सी बातों की याद दिलाता है। एक तरफ डॉ. आंबेडकर और भारत के लिये उनका योगदान है जिसे हमने संजोया है। दूसरी तरफ 1992 में भाजपा आरएसएस के अराजक तत्वों द्वारा बाबरी मस्जिद का ध्वंस है। भारत विरोधी ये ताकतों परास्त होंगी।उन्होंने संविधान और धर्मनिरपेक्षता को बचाने के लिये विभाजनकारी ताकतों से निर्णायक संघर्ष की अपील की। सभा को भाकपा के राज्यसभा सदस्य डी राजा सहित वामदलों के अन्य नेताओं ने भी संबोधित किया।