नई दिल्ली, भारतीय जनता पार्टी के नेता और बॉलीवुड एक्टर परेश रावल आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे. इस बात की पुष्टि भाजपा की गुजरात इकाई के प्रमुख जीतू वाघाणी ने शनिवार को की है. इससे पहले बीजेपी नेता परेश रावल ने कहा था कि वह इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ना चाहते हैं.

शनिवार को भाजपा की गुजरात इकाई के प्रमुख जीतू वाघाणी ने बताया कि फिल्म अभिनेता और अहमदाबाद पूर्व से लोकसभा सदस्य परेश रावल इस बार चुनाव नहीं लड़ेंगे. इससे पहले रावल ने ट्वीट किया कि उन्होंने पार्टी को कई महीने पहले ही सूचित कर दिया था कि वह अप्रैल-मई लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे.

परेश रावल रेस से बाहर

वाघाणी ने कहा, ‘परेश रावल जी ने पार्टी को सूचित कर दिया था कि वह चुनाव नहीं लड़ेंगे. पिछले 5 वर्षों बतौर अभिनेता व्यस्त होने के बावजूद उन्होंने अपने लोकसभा क्षेत्र को वक्त दिया है. वह आगे भी पार्टी के लिए काम करते रहेंगे.’ रावल ने ट्वीट में कहा, ‘मैं मीडिया और दोस्तों से अनुरोध करता हूं कि मेरे नामांकन के बारे में अटकलें ना लगाएं. मेरे लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने के बारे में मैंने पार्टी को कई महीने पहले सूचित कर दिया था. हालांकि, मैं भाजपा का निष्ठावान सदस्य और नरेंद्र मोदी का कट्टर समर्थक बना रहूंगा.’

बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में अहमदाबाद पूर्व लोकसभा क्षेत्र से परेश रावल ने 3.25 लाख से अधिक मतों से जीत दर्ज की थी. बीजेपी शनिवार शाम तक अपने 286 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर चुकी है. शनिवार को केंद्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता जेपी नड्डा ने भाजपा के 46 और उम्मीदवारों के नामों की सूची जारी की. इसमें कई बड़े चेहरों का टिकट काट दिया गया है.

शांता कुमार नहीं लड़ेंगे

नड्डा द्वारा जारी नई लिस्ट में हिमाचल के दो सांसदों शांता कुमार और वीरेंद्र कश्यप का टिकट काट दिया गया है. पार्टी ने शिमला से मौजूदा सांसद वीरेंद्र कश्यप की जगह सुरेश कश्यप और कांगड़ा-चंबा से शांता कुमार की जगह किशन कपूर को टिकट थमाया है. इसके अलावा मध्य प्रदेश के लिए जारी उम्मीदवारों के नामों में भाजपा ने 5 नेताओं का टिकट काटा है. यहां मुरैना से अनूप मिश्रा की जगह नरेंद्र सिंह तोमर को टिकट मिला है. तोमर पहले ग्वालियर से चुनाव जीते थे.

वहीं, शहडोल से मौजूदा सांसद ज्ञानसिंह की जगह हिमाद्रि सिंह को, उज्जैन से चिंतामणि मालवीय की जगह अनिल फिरोजिया को, बैतूल में ज्योति धुर्वे के बजाय दुर्गादास उईके को और भिंड से भगीरथ प्रसाद की जगह संध्या राय को भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने टिकट थमाया है.

बीजेपी के 'शत्रु' हुए सिन्हा

इससे पहले भाजपा की तरफ से जारी लिस्ट में बिहार के पटना साहिब से शत्रुघ्न सिन्हा का टिकट काट दिया गया है. उनकी जगह इस बार केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद चुनाव लड़ेंगे. वहीं, बिहार में नवादा के मौजूदा सांसद गिरिराज सिंह को अबकी बार बेगूसराय से उम्मीदवार बनाया गया है और नवादा सीट से उनकी जगह एलजेपी के चंदन कुमार को टिकट दिया गया है.

वाजपेयी के खास को टिकट नहीं

यही नहीं, भागलपुर से शाहनवाज हुसैन का टिकट भी काट दिया गया है. उनकी जगह जेडीयू के अजय कुमार मंडल एनडीए के उम्मीदवार बने हैं. इसके अलावा भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और उमा भारती इस बार आम चुनाव नहीं लड़ेंगे. गुजरात के गांधी नगर से आडवाणी की जगह भाजपा अध्यक्ष अमित शाह चुनाव लड़ेंगे. वहीं, उमा भारती ने पार्टी संगठन से पहले ही अपनी चुनाव न लड़ने की इच्छा बता दी थी. जिसके बाद उन्हें पार्टी ने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया है.

बता दें कि लोकसभा चुनाव के लिए 11 अप्रैल से वोटिंग शुरू हो रही है. 19 मई को आखिरी चरण की वोटिंग होगी और 23 मई को वोटों की गिनती की जाएगी.