माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विवि के पूर्व कुलपति बीके कुठियाला पर एफआईआर दर्ज हुई है. आर्थिक अपराध शाखा (EOW) ने कुठियाला समेत 18 लोगों पर 420, 409 धारा के तहत मामला दर्ज किया है. विश्विद्यालय में वित्तीय अनियमितताओं और घोटाले के अलावा भ्रष्टाचार और फर्जी नियुक्ति सहित कई आरोप लगाए गए हैं. इसी मामले में कुल 18 लोगों पर एफआईआर दर्ज हुआ है.

दरअसल, विश्विद्यालय के रजिस्ट्रार दीपेंद्र सिंह बघेल ने ईओडब्ल्यू को चिठ्ठी लिखकर पूर्व कुलपति बीके कुठियाला के कार्यकाल में हुई नियुक्ती में गड़बड़ी को लेकर कुठियाला और नियम विरुद्ध तरीके से भर्ती हुए लोगों के खिलाफ एफआईआर करने को कहा था.

इसके अलावा विश्विद्यालय में हुई अनियमितताओं की जांच कर रही तीन सदस्यीय कमेटी की प्रारंभिक जांच रिपोर्ट में चौंकाने वाला तथ्य सामने आए थे. यह भी खुलासा हुआ कि प्रोफेसर, असिस्टेंट प्रोफेसर और वित्त अधिकारी समेत 24 लोगों की नियुक्तियों में मापदंडों का पालन नहीं किया गया है.

रिपोर्ट में तत्कालीन कुलपति प्रो. बीके कुठियाला के दो कार्यकाल भ्रष्टाचार और वित्तीय गड़बड़ी का खुलासा हुआ है. रिपोर्ट में यह भी आरोप हैं कि नियमों और मापदंडों का ध्यान नहीं रखा गया. आरोप है कि अधिकारी व कर्मचारी भ्रष्ट गतिविधि में लिप्त हैं. उन्होंने वित्त, प्रशासन, अकादमी व भंडार-क्रय, परीक्षा और प्रकाशन शाखा में गड़बड़ियां भी की हैं.