ईटानगर: अरुणाचल प्रदेश में उग्रवादियों ने मंगलवार को एक बड़ा हमला किया है. प्राप्त जानकारी के अनुसार, तिरप जिले में हुए इस उग्रवादी हमले में एनपीपी के एक विधायक समेत 11 लोगों की हत्या कर दी है. इस हमले में विधायक के दो पीएसओ (सुरक्षा अधिकारी) भी मारे गए हैं. बता दें कि खोंसा पश्चिम विधानसभा सीट से निवर्तमान विधायक तिरंग अबोह एनपीपी के टिकट पर विधानसभा उपचुनाव में प्रत्याशी बनकर चुनावी मैदान में उतरे थे. शीर्ष अधिकारी का कहना है कि इस हमले को नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नगालैंड (NSCN) के आतंकियों द्वारा अंजाम देने की आशंका है.

दरअसल, विधायक तिरंग अबोह असम से अपने विधानसभा क्षेत्र में लौट रहे थे. इस दौरान उनके साथ दो पीएसओ और चार अन्य लोग भी थे. बताया जा रहा है कि सुबह करीब 11:30 बजे बोगपानी के पास जैसे ही उनका काफिला पहुंचा, उग्रवादियों ने उनके काफिले पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. 

इस घटना पर मेघालय के सीएम कोनार्ड संगमा ने ट्वीट कर दुख जताया है. उन्होंने लिखा कि एनपीपी को इस घटना से बेहद हैरान है और हमले में विधायक तिरंग अबोह और उनके परिवार की मौत की खबर से हमें बहुत दुख हुआ है. हम इस हमले की कड़ी निंदा करते हैं. गृहमंत्री राजनाथ सिंह और प्रधानमंत्री कार्यालय से इस हमले के पीछे जिम्मेदार लोगों पर कड़ी कार्रवाई की मांग करते हैं. 

वहीं, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजीजू ने भी घटना पर शोक जताते हुए ट्वीट कर लिखा, 'मैं अरुणाचल के विधायक तिरंग अबोह की परिवार समेत 11 लोगों की निर्मम हत्या से हैरान और बेहद दुखी हूं. हमला करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.'