राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने 'स्कूल चलें हम'' अभियान के अंतर्गत आज राजभवन में प्राथमिक और माध्यमिक कक्षाओं के 280 से अधिक विद्यार्थियों को ज्ञानवर्द्धक पुस्तकें और पठन-पाठन सामग्री वितरित की। उन्होंने कहा कि स्कूलों में नियमित रूप से शिक्षक-अभिभावक सम्मेलन आयोजित होने चाहिये। राज्यपाल ने शिक्षकों से कहा कि वे विद्यार्थियों के व्यक्तित्व निर्माण एवं स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दें।

कार्यक्रम में राज्यपाल द्वारा गोद लिये गए स्कूल के बारे में भी उन्हें स्कूल में आये निखार और विद्यार्थियों के उद्यम और उत्साह से अवगत कराया गया। राज्यपाल के सौजन्य से पूर्व में प्राप्त पठन-पाठन सामग्री विद्यार्थियों के लिये अत्यंत उपादेय सिद्ध हुई है। संबंधित स्कूलों के प्राचार्यों ने बताया कि राज्यपाल द्वारा गोद लिए जाने के बाद विद्यार्थियों में अपनी पढ़ाई के प्रति अधिक गंभीरता दृष्टिगोचर हो रही है तथा अन्य अनेक सकारात्मक परिवर्तन भी परिलक्षित हुए हैं। विद्यालय में स्मार्ट क्लास लगने लगी है। विद्यार्थी कम्प्यूटर-दक्ष हो गये हैं। गीत, संगीत, चित्रकला आदि ललित कलाओं में विद्यार्थियों की रचनात्मक प्रतिभा निखर रही है।