पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री एवं बालाघाट जिले के प्रभारी  मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल की अध्यक्षता में आज बालाघाट जिला योजना समिति की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में बालाघाट जिले के विकास कार्यों एवं विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की गई।

बैठक में कृषि, उद्यान, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली एवं सहकारिता विभाग के कार्यों एवं योजनाओं की विस्तार से समीक्षा की गई। मंत्री श्री पटेल ने कृषि विभाग के कार्यों एवं योजनाओं की समीक्षा के दौरान कहा कि किसानों को खरीफ फसलों का बीज एवं खाद सहकारी समितियों से बिना किसी परेशानी के मिलना चाहिए। 30 जून तक जिस किसी भी किसान द्वारा सोसायटी में राशि जमा कराई जायेगी उससे ब्याज की राशि नहीं लेना है। यदि समिति प्रबंधक किसानों को जय किसान फसल ऋण माफी योजना के बारे में गुमराह करेगा और किसानों को खाद-बीज के परेशान करेगा उसके विरूद्ध सेवा से पृथक करने की कार्यवाही की जायेगी। प्रभारी मंत्री श्री पटेल ने जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के महाप्रबंधक को सात दिनों के भीतर जिले के सभी विकासखंडों में शिविर लगाकर किसानों को आवश्यक मार्गदर्शन देने के निर्देश दिये।

मंत्री श्री पटेल ने कहा कि ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों की नल-जल योजना बंद नहीं रहना चाहिए। जहां कहीं पर भी हेंडपंप बिगड़ने की शिकायत आये तो उसे तत्काल सुधारने का इंतजाम किया जाये। जहाँ जरूरी है वहाँ हैंडपंप खनन किया जाये। स्वास्थ्य सेवाओं की समीक्षा के दौरान मंत्री श्री पटेल ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से कहा कि वे यह सुनिश्चित करें कि प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, उप स्वास्थ्य केन्द्र व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र समय पर खुले और वहां पर पदस्थ कर्मचारी समय पर कार्यस्थल पर उपस्थित रहें। हमारे पास जो भी संसाधन उपलब्ध है उनका उपयोग होना चाहिए।

बैठक में खनिज साधन मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल ने अधिकारियों से कहा कि वे अपने क्षेत्र का सतत भ्रमण करें और योजनाओं के क्रियान्वयन पर कड़ी निगरानी रखें। शासन की योजनाओं का लाभ आम जनता तक पहुंचना चाहिए।

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री एवं बालाघाट जिले के प्रभारी मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल, मध्यप्रदेश शासन के खनिज साधन मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल एवं विधानसभा उपाध्यक्ष सुश्री हिना कावरे ने आज बालाघाट तहसील के ग्राम अमेडा-(डी) में स्कूल चले हम अभियान का शुभारंभ किया। इस दौरान अतिथियों ने कक्षा पहली, छठवीं और नवमी में प्रवेश लेने वाले बच्चों का तिलक लगाकर एवं हार पहनाकर स्वागत किया और बच्चों को नि:शुल्क पुस्तकों का वितरण किया।

कार्यक्रम में अतिथियों द्वारा कक्षा पहली में प्रवेश लेने वाले हर्ष, साक्षी व जानकी, कक्षा 6 में प्रवेश लेने वाले खुशबू, हर्षिता व नेहा तथा कक्षा नवमी में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों का तिलक लगाकर एवं हार पहनाकर स्वागत किया।

मंत्री श्री पटेल ने इस अवसर पर छात्र-छात्राओं, शिक्षकों एवं ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षा के मानव जीवन के विकास में महत्वपूर्ण स्थान है। वर्तमान समय में शिक्षा के बगैर जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है। हम सभी की जिम्मेदारी है कि कोई भी बच्चा स्कूल जाने से वंचित न रहे।