झाबुआ/इन्दौर । प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने आज इंदौर संभाग के झाबुआ जिले के प्रवास के दौरान स्थानीय पोलिटेक्निक कॉलेज झाबुआ के परिसर मे आयोजित मुख्यमंत्री कन्या/निकाह योजना अंर्तगत विवाह सम्मेलन में स्वयं उपस्थित होकर कन्यादान कर 700 वर-वधुओं को आशीर्वाद दिया एवं उन्हें फलदार पौधे भेंटकर पर्यावरण संरक्षण का संकल्प भी दिलाया। आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने जय किसान फसल ऋण माफी योजना के हितग्राही किसानों को ऋण माफी प्रमाण पत्र वितरित किए। आयोजन स्थल पर जिले के विकास के लिए 140 करोड़ 15 लाख 47 हजार लागत के निर्माण कार्यां का लोकार्पण/भूमिपूजन भी किया।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने कहा कि किसानों, महिलाओं,युवाओं एवं गरीबों सभी के विकास के लिये सरकार वचनबद्व है। अभी सरकार ने अपने 6 माह के कार्यकाल में जनता से किये गये वादों के अनुरूप कार्य करने का प्रयास किया है। मैं सिर्फ घोषणा करने में विश्वास नहीं रखता मैं काम करके दिखाउगा। प्रदेश के अन्नदाताओं को 2 लाख तक का कर्ज माफ करने का जो वचन दिया था, उसे मैंने निभाया है। जय किसान फसल ऋण माफी योजना किसानों के लिए राहत है। इस योजना में किसानों के कर्ज माफ कर नोडयूज प्रमाण पत्र भी दिये जाएंगे। फसल ऋण माफी योजना में झाबुआ जिले में प्रथम चरण में 46419 किसानों के 212.50 करोड़ की स्वीकृति जारी की जा चुकी है। योजना का दूसरा चरण भी प्रारंभ किया जा चुका है, जिसके तहत 6930 किसानों की 49.87 करोड़ की स्वीकृति जारी की गई है। अब तक झाबुआ जिले के 53349 किसानों की 262.37 करोड़ की स्वीकृत जारी हो चुकी है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश के नौजवानों की सोच अलग है।उनको उनकी सोच के अनुसार रोजगार की आवश्यकता है। हम युवाओं को रोजगार दिलाने का प्रयास करेंगे। प्रदेश में मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना का शुभारंभ किया जा चुका है, जिसके अंतर्गत हर शहरी युवा को वर्ष में 100 दिन का रोजगार दिलाया जा रहा है।प्रदेश में निवेश के लिए सही वातावरण दे कर उद्योगपतियो को निवेश के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा एवं उन्हें स्थानीय लोगों को रोजगार देने के लिए उनको प्रतिंबद्ध किया जाएगा। पहले उद्योगों में स्थानीय लोगों को रोजगार नहीं मिलता था, अब यहां लगने वाले उद्योगों में 70 प्रतिशत स्थानीय लोगों को रोजगार दिया जाएगा।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिले के प्रभारी मंत्री और नर्मदा घाटी विकास मंत्री श्री सुरेन्द्र सिह बघेल, ने कहा कि गरीब कन्याओं को घर-गृहस्थी बसाने में कोई समस्या न आये इसलिए मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने षपथ लेते ही मुख्यमंत्रीं कन्या/निकाह योजना में राषि बढ़ाकर 51 हजार रू. कर दी ताकि, नव विवाहित जोडे को कोई आर्थिक समस्या नही आये। उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी, पूर्व सांसद श्री कान्तिलाल भूरिया ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने किसानों को ऋण माफी के प्रमाण पत्र प्रदाय किये एवं अन्य योजनाओं के लाभार्थी हितग्राहियों को भी हितलाभ का वितरण किया। इस अवसर पर विधायक पेटलावद श्री वालसिंह मेड़ा,विधायक थांदला श्री वीरसिह भूरिया, विधायक जोबट सुश्री कलावती भूरिया, विधायक अलीराजपुर श्री मुकेश पटेल, कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा, पुलिस अधीक्षक श्री विनीत जैन, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिड़े सहित जनप्रतिनिधि एवं आमजन उपस्थित थे।
:: अनेक निर्माण कार्यो का किया लोकार्पण और भूमिपूजन :: 
प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने जिले के विकास के लिए 140 करोड़ 15 लाख 47 हजार लागत के निर्माण कार्यां का लोकार्पण/भूमिपूजन भी किया। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के बी.टी-रोड के 35 कार्यो लागत 3279.96 लाख , पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के गौशाला निर्माण के 3 कार्यों लागत 88.86 लाख, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के नदी पुनर्जीवन कार्य पम्पावती नदी के 655 कार्यों लागत 1701.83, लाख, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के निस्तार तालाब के 26 कार्यों लागत 1127.97 लाख, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क परियोजना के मेजर ब्रिज के 4 कार्य लागत 1361.53 लाख के निर्माण कार्यों का भूमिपूजन किया गया।
पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के आजीविका भवन निर्माण लागत 40.00 लाख, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के नल-जल योजना के 22 कार्यां लागत 1937.79 लाख, जल संसाधन विभाग के बैराज निर्माण कार्य लागत, 360.17 लाख, जल संसाधन विभाग के नाहरपुरा तालाब निर्माण कार्य लागत 360.17 लाख, नगरीय प्रशासन के सी.सी. रोड एवं नाली निर्माण के 15 कार्यो लागत 163.17 लाख, उच्च शिक्षा विभाग के नवीन आदर्ष महाविद्यालय भवन झाबुआ लागत 274.94  लाख रूपये का लोकार्पण किया गया।