शाजापुर । मध्यप्रदेश सहित देशभर के विभिन्न इलाकों में पत्रकार प्रताडऩा के बढ़ रहे मामले चिंताजनक हैं। पत्रकारों की सुरक्षा के लिए कई वषो्रं से पत्रकार सुरक्षा कानून बनाए जाने की मांग मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ द्वारा की जा रही है, लेकिन न तो केंद्र सरकार ध्यान दे रही है और ना ही राज्य सरकार पत्रकारों की सुरक्षा के लिए चिंतित हैं। सरकार की उदासीनता के चलते अब अपराधी तत्वों के हौंसले इतने बड़ गए हैं कि वे पत्रकारों को जिंदा जलाने में भी संकोच नही कर रहे हैं। यही कारण है कि अभी हाल ही में सागर जिले में पत्रकार चक्रेश जैन की जिंदा जलाकर हत्या कर दी गई। मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष शलभ भदौरिया एवं वरिष्ठ मुख्य कार्यकारी अध्यक्ष शरद जोशी ने घटना की निंदा करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखकर चिंता व्यक्त की है।
पत्रकार द्वय ने बताया कि संगठन ने प्रदेशभर में पोस्टकार्ड अभियान चलाकर पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग प्रधानमंत्री से की थी। प्रदेश के सभी जिलों तथा विकासखंडों से लगभग 10 हजार पोस्टकार्ड इस आशय के प्रधानमंत्री को भेजे गए थे। इसके अलावा सभी सांसदों, केंद्रीय मंत्रियों तथा राज्य के मंत्रियों को भी जिला इकाईयों द्वारा कानून बनाने की  मांग को लेकर ज्ञापन दिए गए थे। वहीं वर्षों से 1 मई मजदूर दिवस पर भी संगठन द्वारा निकाले जाने वाली रैली के माध्यम से भी पत्रकार सुरक्षा कानून बनाए जाने की मांग की जाती रही है, लेकिन इसके बाद भी आज तक पत्रकारों की सुरक्षा की चिंता नही की गई है और ना ही ठोस कानून बनाया गया। ऐसे मेें लोकतंत्र का चौथा स्तंभ लोकतांत्रिक देश में कैसे सुरक्षित रहेगा यह चिंता का विषय है।  
आए दिन पत्रकारों के साथ मारपीट करने, प्रताडि़त करने जैसी घटनाएं निरंतर हो रही हैं। सागर जिले में पत्रकार चक्रेश जैन को जिंदा जलाए जाने की घटना को लेकर प्रदेशभर में संगठन के पदाधिकारियों ने जिला एवं ब्लॉक स्तर पर ज्ञापन देकर अपना आक्रोश जताया। इसी कड़ी में मंगलवार को दोषी तत्वों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर शाजापुर श्रमजीवी पत्रकार संघ जिलाध्यक्ष मनोज जैन के नेतृत्व में पत्रकारों ने मुख्यमंत्री कमलनाथ के नाम ज्ञापन डिप्टी कलेक्टर प्रियंका वर्मा को सौंपा। साथ ही ज्ञापन के माध्यम से मांग की कि पत्रकार सुरक्षा कानून शीघ्र ही बनाया जाए और सागर में पत्रकार की हत्या करने वाले दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाए। ज्ञापन सौंपते समय संगठन के प्रदेश संयुक्त सचिव रमेश धगट, संभागीय सचिव नरेंद्र श्रीवास्तव, ईश्वरसिंह परमार, जिला उपाध्यक्ष इमरान खरखरे, आदित्य शर्मा, जिला सचिव राजेश नागर, ब्लॉक अध्यक्ष राजा राठौर, जिला प्रेस क्लब अध्यक्ष अजयसिंह कुशवाह, उमेश टेलर, आशुतोष शर्मा, जिला महासचिव मनोहर मारेठिया, तेजकरण चौहान, सलीम खान, जिला कोषाध्यक्ष प्रमोद सांकलिया, जिला संयुक्त सचिव राजेश कलजोरिया, इमरान अंसारी, पंकज हिरवे, धनराज गवली, ओमप्रकाश प्रजापति, अनुराग श्रीवास्तव, शहजाद खान, श्यामवीरसिंह तोमर, साजिद कुरैशी, नितिन राजावत, मोहित व्यास, दिलीप शर्मा, गोरधन जाटव, अमजद खान, सोनू गवली,  अवनीश त्रिवेदी सहित पत्रकार मौजूद थे।