इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 2021 के सत्र में टीम की संख्या बढ़कर दस हो सकती है। टीमों की संख्या बढ़ाने को लेकर हाल ही में एक बैठक भी हुई थी। अभी आईपीएल में आठ टीमें हैं। इससे पहले 2011 में भी दस टीमें थी पर उस समय यह प्रारुप सफल नहीं रहा था। इस कारण इसमें टीमों की संख्या घटाकर इन्हें आठ कर दिया गया। माना जा रहा है कि बोर्ड अब एक बार टीमों की संख्या बढ़ना चाहता है। इसके लिए निविदा प्रक्रिया अगले आईपीएल संस्करण से पहले तय हो सकती है। 
आईपीएल फ्रैंचाइजियों के मालिकों और अधिकारियों ने लंदन में इस सप्ताह के अंत में एक बैठक भी की थी, जिसमें यह निष्कर्ष निकाला गया कि आईपीएल में 2020 में दो नई फ्रैंचाइजी के आने से लाभ होगा। हालांकि, यह खेल में 2021 में से हिस्सा बनाया जाएगा। स्टार इंडिया के प्रमुख, उदय शंकर, जिन्होंने 2017 में आईपीएल के पांच साल के अधिकारों के लिए 16,347 करोड़ रुपये खर्च किए थे, यहां नहीं पहुंच सके। सूत्रों ने कहा कि वह टीमों की संख्या बढ़ाने के खिलाफ नहीं हैं। वहीं दूसरी ओर, बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी ने भी लंदन में आईपीएल फ्रैंचाइजियों के मालिकों और स्टाकहोल्डर्स के बीच मीटिंग की पुष्टि की है। बैठक को लेकर उन्होंने अधिक जानकारी नहीं दी पर माना जा रहा है कि इसमें कुछ अन्य कारपोरेट घराने शामिल हो सकते हैं ।