इन्दौर । नवलखा स्थित मनकामेश्वर कांटाफोड़ शिव मंदिर पर श्रावण के अंतिम सोमवार को भगवान भोलेनाथ, माता पार्वती एवं पुत्र गणेश की सात फीट ऊंची दिव्य प्रतिमाओं को हजारों भक्तों ने अपने हाथों से झूलों में झुलाया, वहीं मंदिर में बनाए गए स्वर्णिम हिंडोला महल को निहारने के लिए देर रात तक भक्तों का मेला जुटा रहा। पश्चिम बंगाल से आए 17 कलाकारों ने इस मनोहारी पुष्पबंगले को इतने आकर्षक ढंग से सजाया कि जिसने भी देखा, एकटक देखता ही रह गया। हजारों मोबाइल कैमरों में यह मनभावन दृश्य कैद हुआ। भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय एवं विधायक आकाश विजयवर्गीय ने भी इस झांकी को जीभर कर देखा और सराहा।
मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष विष्णु बिंदल, संयोजक बी.के. गोयल, अजय खंडेलवाल एवं राजकुमार अग्रवाल ने बताया श्रावण के अंतिम सोमवार के उपलक्ष्य में आज शाम भगवान भोलेनाथ के नटराज स्वरूप, श्रीफल पर नृत्य करते गणेशजी और दोनों को निहारती मां पार्वती की झांकी भी भक्तों को आल्हादित करने वाली थी। मंदिर में जगह-जगह 9 झूले स्थापित किए गए थे, जिन पर सभी प्रमुख देवी-देवता विराजित थे। इन झूलों पर भी रजनीगंधा, गुलाब, गेंदा एवं आर्केड सहित पांच क्विं. फूलों से मनोहारी श्रृंगार किया गया था। भक्तों ने इन झूलों को अपने हाथों से झुलाया और पुण्य लाभ उठाया। मंदिर के लगभग 1400 वर्गफीट परिसर एवं रजत मंडित गर्भगृह को सुनहरी पट्टिकाओं से आच्छादित किया गया था। रंग-बिरंगी रोशनी में यह सजावट अनूठा दृश्य सृजित कर रही थी। शाम 7 बजे से ही भक्तों का आगमन शुरू हो गया था जो देर रात तक चलता रहा। मंदिर भक्त मंडल के सदस्यों के साथ पुलिस एवं नगर सुरक्षा समिति के सदस्यों ने यातायात व्यवस्था एवं मंदिर के दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए पूरे समय व्यवस्थाएं संभाले रखी। इसके पूर्व संध्या को आरती में मंदिर से जुड़े सैकड़ों भक्त शामिल हुए। आरती में भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय एवं विधायक आकाश विजयवर्गीय भी उपस्थित थे।