रायगढ़ | राजीव गांधी किसान न्याय योजना ने लॉक डाउन के बीच किसानों को बड़ी राहत दी है। योजना के तहत किसानों के खाते में पैसे आने से न सिर्फ  उन्हें कोरोना आपदा से उपजे आर्थिक संकट से निपटने में मदद मिल रही है बल्कि फसल की सही कीमत मिलने से किसानों के अंदर कृषि कार्य के लिए भी उत्साह बढ़ा है।  
रायगढ़ जिले के खरसिया विकासखण्ड के कुलबा ग्राम के विद्यानंद पटेल जिन्हें इस योजना की पहली किश्त के रूप में 88700 रुपए मिले है। वे बताते है कि उनका संयुक्त परिवार है तथा पिताजी और उनके भाई सभी मिलकर एक साथ कृषि कार्य करते हैं। योजना से मिली राशि का उपयोग अपनी खेती को और उन्नत व बेहतर करने में करेंगे। उनके पास एक पुराना ट्रेक्टर है, वह उसे भी एक्सचेंज कर नया लेने की योजना बना रहे हैं।
उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को राजीव गांधी किसान न्याय योजना के लिए हृदय से आभार जताते हुए कहा कि कोरोना लॉक डाउन के बीच राशि का मिलना काफी राहत भरा है, अन्यथा लॉक डाउन के कारण अधिकांश काम बंद होने से आर्थिक संकट बना हुआ था। उन्होंने आगे कहा कि किसानों को फसल का सही दाम मिलने से खेती के लिए उनका उत्साह दुगुना हो गया है। योजना के अगले चरण में दलहन तथा तिलहन फसलों को शामिल करना सराहनीय कदम है। विद्यानंद आगे कहते हैं सरकार की योजना से खेती को लेकर मेरा आत्मविश्वास बढ़ा है। मैं अभी धान और मूँगफली उगाता हूँ। किन्तु अब और नई फसल उगाने के बारे में विचार कर रहा हूँ। जिससे खेती को अपने लिए और लाभकारी बना सकूँ।
उन्होंने आगे कहा कि वे किसान जो अपने जमीन को लीज या रेग में देते थे अब उचित मूल्य मिलने पर स्वयं खेती करना चाहता है। नयी पीढ़ी के मेहनतकश और शिक्षित युवा वर्ग को भी कृषि फायदेमंद उद्यम नजर आने लगा है। वे परम्परागत कृषि के साथ नकदी व अन्य फसलों के उत्पादन में रुचि लेने लगे हैं। उन्होंने विश्वास जताया कि शासन की यह योजना निश्चित ही प्रदेश में खेती की तस्वीर बदलने वाली साबित होगी।
उल्लेखनीय है कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत विपणन वर्ष 2019-20 में रायगढ़ जिले के 90358 किसानों को अब 2500 रूपए की दर से अंतर राशि 331 करोड़ 66 लाख 55 हजार रूपए उन्हें चार किश्तों में मिलेगी। 21 मई को योजना के शुभारंभ अवसर पर पहली किश्त के रूप में विपणन संघ द्वारा 26.25 प्रतिशत याने 87 करोड़ 06 लाख 22 हजार रूपए की राशि जिले के 90358 किसानों के बैंक खाते में डाल दी गयी है।