श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में एक बार फिर सुरक्षाबलों पर कार में आईईडी भरकर हमले की बड़ी साजिश को नाकाम किया गया है। सुरक्षाबलों ने पुलवामा के आइनगुंड इलाके में एक सैंट्रो कार में लाई जा रही आईईडी को बरामद किया है। जिस वाहन में यह आईईडी मिली है, उस पर लगी नंबर प्लेट पर कठुआ का नंबर लिखा हुआ है। इसके पूर्व 2019 में भी सीआरपीेफ के काफिले पर आईईडी से हमला करके 40 जवानों की हत्या कर दी गई थी।
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सुरक्षाबलों ने पुलवामा के राजपोरा इलाके में स्थित आइनगुंड से इस कार को जब्त किया है। इस कार में बड़ी मात्रा में आईईडी बरामद हुई है। एजेंसियों को शक है कि इन्हें सुरक्षाबलों के किसी काफिले पर हमले के लिए यहां पर लाया गया था।
जिस कार से आईईडी बरामद की है उसका नंबर जेके-08 1426 है, जो कि कठुआ में दर्ज है। जम्मू संभाग का कठुआ इलाका सीमांत क्षेत्र है और यहां के हीरानगर इलाके को पाकिस्तानी घुसपैठ के लिहाज से बेहद संवेदनशील माना जाता है। ऐसे में इस कार में विस्फोटकों के मिलने के पीछे किसी पाकिस्तानी साजिश का शक भी जताया जा रहा है।
बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी 2019 को सीआरपीएफ के काफिले पर बड़ा हमला हुआ था। पुलवामा के अवंतिपोरा में हुए इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे। इस हमले में जैश‑ए-मोहम्मद के आतंकियों ने आईईडी से भरी एक ऐसी ही कार का इस्तेमाल किया था, जिसे सीआरपीएफ जवानों के काफिले की बस से लड़ा दिया गया था।