बिहार के कैमूर जिले में एक ऐसा गांव भी है, जहां आजादी के बाद से अब तक एक भी मामला थाने में दर्ज नहीं कराया गया हैI ऐसा नहीं है कि इस गांव में विवाद नहीं होते हैं, यहां पर होने वाले सभी विवादों को गांव के एक मंदिर में ही निपटा लिया जाता हैI जी हां, हम बात कर रहे हैं कैमूर जिले के सरेया गांव कीI इस गांव से आजादी के बाद से आजतक किसी प्रकार का मामला थाने में मामला दर्ज नही हुआ हैI

कैमूर के पुलिस अधीक्षक दिलनवाज अहमद के अनुसार, सरेया गांव में यदि किसी प्रकार का विवाद होता है, तो लोग थाना और न्यायालय का चक्कर नहीं काटते हैंI सभी विवादों का निपटारा गांव के एक एक शिव मंदिर में किया जाता हैI इस गांव के लोग भगवान शिव को ही जज मानकर विवादों का निपटारा बुजुर्ग की मौजूदगी मे कर लेते हैंI इस मंदिर में होने वाला हर फैसला गांव के सभी लोगों को मान्‍य होता हैI