नई दिल्‍ली: कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री बीएस येदियुरप्‍पा ने शनिवार को दिल्‍ली में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की. इस बैठक में कर्नाटक में आई बाढ़ से संबंधि‍त मुद्दों के अलावा कर्नाटक में लंब‍ित कैब‍िनेट विस्‍तार पर बातचीत की गई. इसके साथ ही कर्नाटक में कैब‍िनेट विस्‍तार पर लगा डेडलॉक खत्‍म होने की संभावना है. बता दें कि  येदियुरप्‍पा ने 26 जुलाई को कर्नाटक के सीएम पद की शपथ ली थी. तब से वह कैबिनेट का विस्‍तार नहीं कर पाए हैं.

कैबिनेट विस्‍तार न होने के कारण उन्‍हें विपक्ष की आलोचना का भी शिकार होना पड़ा है. शनिवार को उन्‍होंने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की. इस बैठक में उन्‍होंने कर्नाटक की बाढ़ के बाद के हालात पर चर्चा की, लेकिन असली मुद्दा कर्नाटक में सरकार के विस्‍तार का था. अब 20 अगस्‍त को कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी लेजिस्‍लेटिव पार्टी मीटिंग बुलाई गई है. माना जा रहा है कि इसके बाद कर्नाटक सरकार में कैबिनेट का विस्‍तार हो जाएगा.

बता दें कि इससे पहले करीब डेढ़ साल पुरानी कांग्रेस और जेडीएस की सरकार अपना बहुमत साबित नहीं कर पाई थी. करीब डेढ़ दर्जन विधायकों ने सरकार से इस्‍तीफा दे दिया था. चार दिन तक विधानसभा में चली बहस के बाद एचडी कुमारस्‍वामी अपना बहुमत साबित नहीं कर पाए थे. इसके बाद उन्‍होंने त्‍यागपत्र दे दिया था.

26 जुलाई को येदियुरप्‍पा ने सीएम पद की शपथ ली. अब देखना ये होगा कि येदियुरप्‍पा की कैबिनेट में किन किन विधायकों को जगह मिलती है. बीजेपी के पास कर्नाटक विधानसभा में सबसे ज्‍यादा 105 विधायक हैं. लेकिन विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस और जेडीएस ने गठबंधन कर सरकार बनाई, लेकिन ये सरकार करीब डेढ़ साल तक ही चल पाई.