रायपुर
राष्ट्रीय स्तर (National Level)  पर छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) को एक बड़ी उपलब्धि हासिल हुई है. भारत सरकार के पंचायती राज मंत्रालय (Ministry of Panchayati Raj) द्वारा राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान (Gram Swaraj Abhiyan) योजना के अंतर्गत छत्तीसगढ़ के कुल 9 जिला, जनपद और ग्राम पंचायतों का चयन राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए किया गया है. दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार 2019 के लिए 8 और नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार 2019 के लिए एक पंचायत का चयन किया गया है. राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए छत्तीसगढ़ के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव (TS Singhdeo) ने सभी निकायों को बधाई भी दी है.

बता दें कि,  ग्राम स्वराज अभियान के अंतर्गत छत्तीसगढ़ को 9 राष्ट्रीय पुरस्कारों के लिए चुना गया है. योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन और ग्रामसभाओं के सार्थक आयोजन के लिए पंचायतों को ये पुरस्कार मिलेगा. भारत सरकार के पंचायती राज मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान योजना के अंतर्गत छत्तीसगढ़ के कुल 9 जिला, जनपद और ग्राम पंचायतों (Gram Panchayat) का चयन राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए किया गया है.

दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार-2019 के लिए 8 और नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार-2019 के लिए एक पंचायत का चयन हुआ है. पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव ने सभी निकायों को बधाई दी है. केन्द्रीय पंचायती राज मंत्रालय द्वारा दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार के लिए जिला पंचायत कांकेर (Kanker) तथा धमतरी (Dhamtari) के नगरी जनपद पंचायत और कबीरधाम के सहसपुर लोहारा जनपद पंचायत का चयन किया गया है.

सूरजपुर (Surajpur) के कंदरई ग्राम पंचायत, राजनांदगांव (Rajnandgaon) के मुसराकला और रूआताला पंचायत, धमतरी के अरौद तथा दुर्ग के बोरई पंचायत का भी चयन हुआ है. वहीं राजनांदगांव जिले के छुईखदान जनपद पंचायत के कुटेलीखुर्द ग्राम पंचायत को नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है.