भोपाल। कलेक्टर तरूण पिथोड़े ने जिले के समस्त परीक्षार्थियों के लिए परीक्षा में अपनाए जाने वाले टिप्स देते हुए विद्यार्थियों से अपील की है कि वे बिना घबराए हुए अच्छे मन से परीक्षा दें । उल्लेखनीय है कि कलेक्टर श्री पिथोड़े समय समय पर स्कूलों में पहुंचकर बच्चों का मार्गदर्शन भी करते हैं । 
श्री पिथोड़े ने अपील में कहा है कि भोपाल जिले के सभी बच्चों से मेरा अनुरोध है कि आप सब जानते है कि अभी परीक्षाओं का समय है और आप सबको बहुत मेहनत करनी पड़ रही होंगी और परीक्षा की तैयारी आप लोग कर रहें होंगे । मैं साथ में यह भी कहना चाहूँगा कि परीक्षा जो होती है ये हमने जो मेहनत की है उसका एक परीक्षण करने का समय होता है। जब हम यह देखते हैं कि हमने क्या सीखा है । लेकिन परीक्षा हमारी पढ़ाई का अंत नहीं होती, बल्कि हमें यह सिखाती है कि हमें हर पल तैयार रहना चाहिए कि हम अपना इवैल्यूवेशन करवा सके। अब जो परीक्षा का समय है उसमें बच्चों से मेरा अनुरोध है कि ‍आप सब बहुत अच्छे से पढ़ाई करें, बहुत मेहनत करें और अच्छे से एग्जाम दे लेकिन बच्चों आप बिल्कुल भी यह मत सोचना कि पढ़ाई के बाद जो परीक्षा आती है यही सबकुछ हैं और यदि कम नम्बर आते है तो हमने कुछ अचीव नहीं कर पाएं । ऐसा हमारे मन में बिल्कुल भी नहीं आना चाहिए। 
उन्होंने कहा कि हमारा काम है कि हम अच्छे से पढ़ाई करें । हाँ ये जरूर करना चाहिए कि हमनें कम नम्बर प्राप्त किये है तो हम और मेहनत करें, हमें अच्छे नम्बर प्राप्त हुए तो हम और अच्छा जो कर सकते है जो हमारे जीवन का उद्देश्य है उसे पाने के लिए हम और दुगुनी उर्जा से मेहनत कर सके। लेकिन यदि किन्ही कारणों से यदि कुछ बच्चों के नम्बर कम आते है तो बच्चों को जरा भी मन में यह बात नहीं रखना चाहिए कि वो कुछ हासिल नहीं कर पाएं। क्योंकि जीवन में एक नया दिन, एक नई प्रेरणा लेकर आता है, एक नया चैलेंज लेकर आता है और उस चैलेंज को निभाने के लिए हमें बहुत उर्जा की आवश्यकता रहती है और वो उर्जा हमारे अंदर समाहित रहती है और ये उर्जा हमारे अंदर और बढ़ती है यदि हम अपनी असफलताओं से हारतें नहीं है । 
उन्होंने कहा कि चूंकि पढ़ाई का समय है बहुत सारा हम लोगों के उपर प्रेशर रहता है तो मैं यह कहूँगा कि आप बिल्कुल भी टेंशन न लें, आप बिल्कुल भी प्रेशर में न रहें और जितनी मेहनत कर सकते है वो करें और बहुत अच्छा करके दिखाये और अपने सभी लोगों के लिए बहुत अच्छा करके दिखाये। अपने टीचर, माता-पिता, स्वयं के लिए बहुत अच्छा करके दिखाये और जो भी होगा उस परिणाम से हमें बिल्कुल भी परेशान होने की आश्वयकता नहीं है और बहुत मेहनत करने की आवश्यकता है जैसा परिणाम आता है कि उसके हिसाब से हम आगे और अधिक मेहनत कर सकते है। उन्होंने सभी बच्चों को शुभकामनाएं दी हैं।