नई दिल्ली/ लखनऊ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने शुक्रवार को ‘आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान’ की शुरुआत की. अभियान का लक्ष्य रोजगार प्रदान करने, स्थानीय स्तर पर उद्यमिता को बढ़ावा देने और रोजगार के मौके उपलब्ध कराने के लिए औद्योगिक संगठनों और अन्य संस्थानों को साथ जोड़ना है. मोदी ने अभियान की शुरुआत 'वीडियो कॉन्फ्रेंस' से की. उन्होंने प्रदेश के छह जिलों के ग्रामीणों से संवाद किया. राज्य के सभी जिलों के ग्रामीण साझा सेवा केन्द्र और कृषि विज्ञान केन्द्रों के जरिए इस अभियान के उद्घाटन के साक्षी बने.इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा, 'श्रम की ताकत हम सभी ने महसूस की है . श्रम की इसी शक्ति को आधार बनाकर भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान शुरू किया गया.' उन्होंने कहा, 'आज इसी ने आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान को प्रेरणा दी यानी केन्द्र की योजना को प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने गुणात्मक एवं संख्यात्मक दोनों ही तरीकों से विस्तार दे दिया .'

आप सारी उम्र प्रधानमंत्री रहें- तिलकराम
अभियान की शुरुआत करने के बाद प्रधानमंत्री ने संतकबीरनगर, सिद्धार्थनगर, गोंडा, जालौन और बहराइच के उन लोगों से बात की जो केंद्र की योजनाओं के लाभार्थी है. इस दौरान प्रधानमंत्री ने बहराइच के किसान तिलकराम से बात की. उन्होंने प्रधानमंत्री को बताया कि आवास योजना से उन्हें लाभ मिला जिसकी मदद से वह घर बनवा पा रहे हैं. तिलक राम ने बताया कि पहले झोपड़ी थी लेकिन अब मकान बन रहा तो हम सभी काफी खुश हैं.प्रधानमंत्री ने पूछा आपको मकान मिला है तो मुझे क्या दोगे. जवाब में तिलकराम ने कहा हम दुआ करते हैं कि आप सारी उम्र प्रधानमंत्री रहें. इस जवाब पर पीएम हंस पड़े. उन्होंने कहा कि मैं चाहता हूं कि आप अपने बच्चों को पढ़ाएं और मुझे चिट्ठी लिखकर बच्चों की पढ़ाई के बारे में बताएं.'

यूपी सरकार की मेहनत शानदार- पीएम मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा- आज जब दुनिया में कोरोना का इतना बड़ा संकट है, तब उत्तर प्रदेश ने जो साहस दिखाया, जो सूझबूझ दिखाई, जो सफलता पाई, जिस तरह कोरोना से मोर्चा लिया, जिस तरह स्थितियों को संभाला, वो अभूतपूर्व है, प्रशंसनीय है. पीएम ने कहा उत्तर प्रदेश के प्रयास और उपलब्धियां इसलिए विराट हैं, क्योंकि ये सिर्फ एक राज्य भर नहीं है, बल्कि उत्तर प्रदेश दुनिया के कई देशों से बड़ा राज्य है. इस उपलब्धि को यूपी के लोग खुद महसूस कर रहे हैं, लेकिन आप अगर आंकड़े जानेंगे तो और भी हैरान हो जायेंगे. प्रधानमंत्री ने कहा- जो मेहनत यूपी की सरकार ने की है, हम कह सकते हैं कि एक प्रकार से अब तक कम से कम 85 हजार लोगों का जीवन बचाने में वो कामयाब हुई है! आज अगर हम अपने नागरिकों का जीवन बचा पा रहे हैं, तो ये भी बहुत संतोष की बात है.