रेलवे को मिलेगी नई गति:भोपाल मंडल के तीन बड़े रेल प्रोजेक्ट का 3 जनवरी को PM मोदी करेंगे लोकार्पण
 

पीएम मोदी 3 बड़े रेलवे प्रोजेक्ट का वर्चुअल लोकार्पण करेंगे। 

प्रोजेक्ट में भोपाल-बरखेड़ा तीसरी रेल लाइन, ग्वालियर-गुना रेल मार्ग का विद्युतीकरण और बीना में 1.7 मेगावाट का सौर ऊर्जा सयंत्र शामिल

नए साल में 3 जनवरी को PM नरेंद्र मोदी मध्य प्रदेश के तीन बड़े रेल प्रोजेक्‍ट का ऑनलाइन लोकार्पण करेंगे। ये तीनों प्रोजेक्ट भोपाल रेल मंडल के हैं। इससे जनता और रेल यात्रियों को बड़ा फायदा होने वाला है। इनमें 48 किमी लंबी भोपाल-बरखेड़ा तीसरी रेल लाइन, 222 किमी लंबे ग्वालियर-गुना रेल मार्ग का विद्युतीकरण और बीना में बनकर तैयार 1.7 मेगावाट का सौर ऊर्जा संयंत्र शामिल हैं। ये तीनों प्रोजेक्ट बनकर तैयार हैं।

भोपाल रेल मंडल के सीनियर DCM विजय प्रकाश ने बताया, PM मोदी 3 जनवरी को पूरे हो चुके बड़े रेल प्रोजेक्‍ट का लोकार्पण करेंगे। वेस्टर्न सेंट्रल रेलवे जबलपुर जोन ने पांच बड़े प्रोजेक्ट की सूची रेलवे बोर्ड को भेजी गई थी। इनमें से तीन प्रोजेक्‍ट भोपाल रेल मंडल के हैं।

विजय प्रकाश के मुताबिक, इन प्रोजेक्ट से प्रदेश में रेलवे को नई गति मिलेगी। सौर ऊर्जा प्लांट से पैदा होने वाली बिजली से ट्रेनों का परिचालन होगा। ट्रैक का विद्युतीकरण होने के बाद अब डीजल की जगह विद्युत से चलने वाली ट्रेनें दौड़ेंगी। इससे ट्रेनों की गति तो बढ़ेगी ही, प्रदूषण से राहत भी मिलेगी। वहीं, तीसरी रेल लाइन पर ट्रेनों के दौड़ने से यात्री एक से दूसरे स्टेशनों पर जल्द पहुंच सकेंगे।

इधर, हबीबगंज स्टेशन का नाम अटल जंक्शन करने की कवायद तेज

हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर 'अटल जंक्शन' रखने की कवायद तेज हो गई है। राज्य सरकार ने पुराने प्रस्ताव पर संज्ञान लिया है। साल 2018 में पश्चिम मध्य रेलवे जबलपुर जोन के जीएम के साथ संसद सदस्यों की बैठक हुई थी। इसमें तत्कालीन राज्यसभा सदस्य प्रभात झा ने हबीबगंज का नाम बदलकर इसे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रखने का प्रस्ताव रखा था, जिस पर सभी ने रजामंदी जताई थी।

प्रभात झा का तर्क है, अटल जी का नाम ग्वालियर और पूरे मध्य प्रदेश से जुड़ा रहा है। वह विदिशा से सांसद भी रहे हैं। ऐसे में हबीबगंज स्टेशन का नाम उनके नाम पर रखने में हर्ज नहीं है।